Sunday, October 20, 2019

2-209 श्रीराम मंदिर अयोध्यापटटनम सेलम तमिलनाडु

लोक कथा के अनुसार श्रीराम जब लंका से अयोध्या वापिस जा रहे थे तो स्थानीय नागरिकों ने यहाँ उनका पट्टाभिषेक किया था। किन्तु यह तर्कसंगत नहीं लगता। विद्वानों की राय में श्रीराम लंका अभियान में ही यहाँ से गये थे। यह स्थल जाने के मार्ग पर ही आता है।

Read more

2-212 कोदण्डराम मंदिर वडुवूर तंजावुर तमिलनाडु

जब श्रीराम कावेरी की शाखा के किनारे चलते हुए यहाँ पहुँचे तो ऋषियों ने उन्हें वहीं रहने को कहा। श्रीराम ने उन्हें अपना एक विग्रह देकर ऋषियों से आगे जाने कीअनुमति प्राप्त की और लंका की ओर चले गये।

Read more

2-213 शिव मंदिर कैकरई तिरुवारुर तमिलनाडु

लोक कथा के अनुसार तिरूवारूर से 3 कि. मी. दूर श्रीराम ने दशरथ जी का श्राद्ध किया था। आज भी स्थानीय लोग अपने पूर्वजों का श्राद्ध करने यहाँ आते हंै।

Read more

2-214 राम स्वामी मंदिर कैकरई तिरुवारुर तमिलनाडु

कैकरई में श्रीराम वनवास से संबंधित यह महत्त्वपूर्ण स्थल है। लंका अभियान में श्रीराम इधर से ही गये थे।

Read more

2-215 वेदारणेश्वर मंदिर वेदारण्यम नागपट्टनम तमिलनाडु

माना जाता है कि इसी अरण्य में भगवान शिव के डमरू से वेदों का उद्घोष हुआ था। इस नाते इस भूमि का भगवान शिव से विशेष संबंध है। इसलिए लंका अभियान पर जाते समय श्रीराम ने यहां भगवान शिव की पूजा की थी।

Read more

2-216 रामपादम कोड़ी करई नागपट्टनम तमिलनाडु

एक लोक कथा के अनुसार श्रीराम ने कोड़ी करई से पुल बनाना आरम्भ किया था किन्तु किसी कारणवश फिर स्थान बदलना पड़ा। वेदारण्यम से 7 कि.मी. दूर समुद्र के किनारे जंगल में श्रीराम के चरण चिह्न बनाये गये हैं। वा.रा. 6/4/9 से आगे पूरे अध्याय मानस 5/34/2 से 5/34/छं 2 तक  रामपादम से वीर कोदण्डरामः- […]

Read more

2-218 कल्याण राम मंदिर मिमिसाइल पोदुकोटई तमिलनाडु

तमिल में कल्याण का अर्थ है विवाह। एक कथा के अनुसार मिमिसाइल में यहाँ के ऋषियों ने श्रीराम से माँग की थी कि वे विवाह का दृश्य देखना चाहते थे। इस मंदिर में श्रीसीतारामजी के विवाह के दृश्य हैं।

Read more

2-220 शिव मंदिर तीरतांड धाणम रामनाथपुरम तमिलनाडु

मुत्तुकुड़ा से 10 कि.मी. दक्षिण दिशा में तीरताण्ड धाणम में ऋषि अगस्त्य के आदेश पर श्रीराम ने शिव पूजा की थी। मंदिर में श्रीराम, लक्ष्मण, राजा सेतुपति, ऋषि अगस्त्य तथा भगवान शिव की बहुत सुन्दर चित्रावली हैं। एक कि.मी. दूर रामरपाद मिलंे हैं।

Read more