Wednesday, November 30, 2022

2-173 सर्वतीर्थ घोटी ताकेद नासिक महाराष्ट्र


सीताजी का हरण कर ले जा रहे रावण का जटायु से युद्ध हुआ था। श्रीराम ने उनका अग्नि संस्कार किया तथा जलांजलि दी। नासिक से 58 कि.मी. घोटी के पास ताकेद गाँव में सर्वतीर्थ वही पवित्र स्थल है।

वा.रा. 3/49/37 से 40/3/50, 51 पूरे अध्याय 3/52/1 से 13/3/64/35 से 77/3/65/1 से 9/3/67/9 से 3/69/1, मानस 3/28/4 से 11/3/29/9 से 3/32/1

सर्वतीर्थ से बालुकेश्वरः-सर्वतीर्थ-

इगतपुरी-आसनगांव-वासिम-भिवंडी- कल्याणनाका-ठाणे-भायखला- मालावार हिल। राष्ट्रीय राजमार्ग 3,  से  145 कि.मी.

Sharing is caring!

One response to “2-173 सर्वतीर्थ घोटी ताकेद नासिक महाराष्ट्र”

Leave a Reply

Your email address will not be published.