Saturday, July 13, 2024

बिक्रम यादव बने श्री राम सांस्कृतिक शोध संस्थान न्यास के नेपाल प्रतिनिधि, लोगों ने किया अभिनन्दन


दिल्लीः मनोज पाठकः कमला बचाओ अभियान के संयोजक बिक्रम यादव को श्री राम सांस्कृतिक शोध संस्थान न्यास का नेपाल प्रतिनिधि नियुक्त किया गया है। भारत सरकार के रामायण सर्किट के अध्यक्ष और श्री राम सांस्कृतिक शोध संस्थान न्यास के प्रधान न्यासी और संस्थापक डॉ राम अवतार ने दिल्ली में इसकी घोषणा की। विगत रविवार को रोहिणी में अग्रसेन भवन सभागार में आयोजित एक भव्य समारोह में ट्रस्टियों की बैठक में यह जानकारी दी गयी। समारोह में उपस्थित लोगों ने जोरदार करतल ध्वनि के साथ इसका स्वागत किया।

गौरतलब है कि बिक्रम यादव सुदीर्घ अवधि से श्री राम सांस्कृतिक शोध संस्थान न्यास से जुड़े हुए हैं। वे पिछले पाँच वर्षों से नेपाल और भारत में बिहार के मिथिला क्षेत्र में बहने वाली महत्वपूर्ण नदी कमला को बचाने के लिए अभियान चला रहे हैं। यहाँ ध्यान देने वाला तथ्य ये है कि कमला को मिथिला में गंगा और सरयू के समान पवित्र समझा जाता है। इसके जल को अत्यंत पावन माना जाता है। विष्णु पुराण सहित अनेक प्राचीन ग्रंथों में कमला की महिमा कही गई है। लेकिन समकाल में कमला नदी जल के अत्यधिक दोहन, प्रदूषण और इसके रेत, बजरी और पत्थर के अवैध उत्खनन से इसके अस्तित्व के लिए चुनौती बन गई है।

जिस कमला नदी को लक्ष्मी जी का स्वरूप माना जाता है वह आज वर्ष भर अविरल जलधार के लिए तरसने लगी है। ऐसे में इसके तट पर बसे भारत और नेपाल के लाखों लोगों के समक्ष संकट खड़ा हो गया है। एक ओर पेयजल तो दूसरी ओर खेती के लिए सिंचाई का जल अनुपलब्ध होने लगा है। साथ ही कमला के जल में मछली पकड़ अपनी आजीविका चलाने वाले लोगों के लिए भयावह स्थिति उत्पन्न हो गयी है। बिक्रम यादव ने कमला नदी में अविरल जल प्रवाह सुनिश्चित करने के लिए पिछले छह वर्षों से कमला बचाओ अभियान चलाया है जिसमें नेपाल और भारत के लोग मिल कर अपने अपने क्षेत्र में सहयोग दे रहे हैं।

बिक्रम यादव के संयोजकत्व में भारत और नेपाल के बीच कमला बचाऊ अभियान शुरु किया गया है ताकि लाखों लोगों के रोजगार पर आए संकट को दूर किया जा सके। बीते रविवार को नेपाल से आए एक प्रतिनिधि मण्डल का स्वागत श्री राम सांस्कृतिक शोध संस्थान न्यास की ओर से ट्रस्टियों की बैठक में किया गया। इसमें नेपाल के पूर्व केन्द्रीय मन्त्री शंकर भण्डारी, नेपाल योजना आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष रघु पाबले और बिक्रम यादव सम्मिलित रहे।

कमला बचाओ अभियान के संयोजक बिक्रम यादव ने सभा को संबोधित करते हुए कमला माई के अस्तित्व से जुड़े संकट और कमला माहात्मय के बारे में विस्तार से जानकारी दी। यादव ने समारोह में भाग लेने आए विश्व हिन्दू परिषद के अन्तराष्ट्रीय अध्यक्ष आलोक कुमार के साथ भारत के लोगों से आह्वान किया के वे कमला नदी के संरक्षण के लिए सहयोग दें।

विश्व हिन्दू परिषद के अध्यक्ष आलोक कुमार ने इस अवसर पर कहा कि भारत और नेपाल की साझी संस्कृति रही है और नदियों को हमारे यहाँ माता का दर्जा दिया गया है। उन्होंने कहा कि कमला जल संरक्षण सहित हमें अपनी सभी नदियों और पावन सरोवरों का संरक्षण करना चाहिए। श्री कुमार ने जल और पर्यावरण संरक्षण के लिए हर संभव सहयोग देने का आश्वासन दिया।

इस अवसर पर प्रधान न्यासी डॉ राम अवतार ने समारोह में उपस्थित सभी लोगों से हिन्दू धर्म उत्थान के लिए अपने तीर्थोंं, नदियों और सरोवरों के संरक्षण के लिए एकजुट होने का आह्वान करते हुए दोनों हाथ उठाकर संकल्प दिलाया।

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *