Saturday, July 13, 2024

नेपाल को फिर से हिन्दू राष्ट्र बनाने के लिए सहयोग करें भारत के सनातनीः शंकर भण्डारी


मनोज पाठकः नेपाल के पूर्व केन्द्रीय मंत्री और नेपाली कांग्रेस के वरिष्ठ नेता श्री शंकर भण्डारी ने भारत के सनातन धर्म प्रेमियों से आह्वान किया है कि नेपाल को फिर से हिन्दू राष्ट्र बनाने के लिए वे अपना नैतिक सहयोग दें। नेपाल से तीन सदस्यीय प्रतिनिधि मण्डल के साथ आए पूर्व केन्द्रीय मन्त्री ने कहा कि जब नेपाल संक्रमण काल में था और नेपाल के लिए एक नए संविधान का निर्माण हो रहा था तो उन्होंने संविधान सभा के निर्वाचित सदस्य के रूप में पुरजोर कोशिशें की थी कि नेपाल की हिन्दू राष्ट्र की छवि बरकरार रहे क्योंकि ऐसा होने से दुनिया के सभी हिन्दुओं के लिए नेपाल एक गौरवमय देश के रूप में बना रहता लेकिन उनकी कोशिशें असफल रहीं।

भारत की राजधानी दिल्ली के रोहिणी में श्री राम सांस्कृतिक शोध संस्थान न्यास द्वारा आयोजित एक समारोह में श्री भण्डारी ने भारत और नेपाल की हजारों वर्ष पुरानी साझा धर्म और संस्कृति की याद दिलाते हुए भारत के लोगों से कहा कि हमारी एक विरासत है। सदियों से हम एक रहे हैं लेकिन राजनीतिक मतभिन्नता और एक षडयन्त्र के तहत नेपाल को कमजोर करने का प्रयास चल रहा है। कभी कभी नेपाल भारत से कुछ मुद्दों पर विमुख दिखता है जबकि वास्तविकता इसके विपरीत है। नेपाल के लोग हमेशा भारत के पक्ष में रहते हैं। उन्होंने कहा कि हमारी हजारों किलोमीटर लंबी खुली सीमा है। भारत के साथ हमारा रोटी बेटी का संबंध है। यह संबंध बना रहना चाहिए।श्री भण्डारी ने कहा कि हम समान सोच वाले लोगों के साथ नेपाल को फिर से हिन्दू राष्ट घोषित करना चाहते हैं। इसमें हमें भारत के सनातन धर्म प्रेमियों का हरसंभव सहयोग चाहिए। श्री भण्डारी के साथ नेपाल से तीन सदस्यीय प्रतिनिधि मण्डल भारत आया हुआ है जिसमें कमला बचाओ अभियान के संयोजक बिक्रम यादव और नेपाल के योजना आयोग के पूर्व वाइस चेयरमैन रघु पाबले सम्मिलित हैं। इसका उद्देश्य नेपाल को हिन्दू राष्ट्र फिर से घोषित करने के लिए सम्पर्क अभियान चलाना है।

इस अवसर पर समारोह को संबोधित करते श्री राम सांस्कृतिक शोध संस्थान न्यास के संस्थापक और प्रधान न्यासी डॉ राम अवतार ने समारोह में उपस्थित लोगों से हाथ उठाकर यह संकल्प लेने को कहा कि नेपाल को हिन्दू राष्ट्र बनाने के लिए भारतवासी तन मन धन से हर संभव सहयोग देंगे।

विश्व हिन्दू परिषद के अंतराष्ट्रीय अध्यक्ष आलोक कुमार ने समारोह को संबोधित करते हुए श्री भण्डारी को आश्वासन दिया कि भारत और नेपाल के बीच मैत्री संबंध अमर रहेगा। उन्होंने कहा कि दोनों देश एक संस्कृति के वाहक हैं और नेपाल को हिन्दू राष्ट्र बने रहने का गौरव फिर से मिलना चाहिए।

इस चित्र में श्री राम सांस्कृतिक शोध संस्थान न्यास के ट्रस्टी व कार्यकर्ताओ के साथ विश्व हिन्दू परिषद के अंतराष्ट्रीय अध्यक्ष आलोक कुमार, नेपाल से आए प्रतिनिधि मण्डल के अध्यक्ष नेपाल के पूर्व केन्द्रीय मंत्री शंकर भण्डारी , कमला बचाओ के अध्यक्ष बिक्रम यादव और नेपाल योजना आयोग के पूर्व वाइस चेयरमैन रघु पाबले सम्मिलिति हैँ।

फोटोग्राफर पूजा पारीक रोहिणी दिल्ली

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *