Friday, March 1, 2024

2 83 लक्षमण पंजा रिंगारघाट

कुनकुरी से 18 कि.मी. दूर रिंगार घाट गाँव के पास, बगीचा-जसपुर मार्ग के निकट लक्ष्मण जी ने वराह रूप में विचर रहे राक्षस का संहार किया था। यहां लक्षमण जी के पांवों के निशान पत्थर पर बने हैं जिनकी पूजा की जाती है । श्री रामचरित मानस के अनुसार श्रीसीता राम जी सुतीक्षण मुनि आश्रम […]

Read more