Monday, December 9, 2019

संकल्प शक्ति है सबसे बड़ी, बिना साधन भी हो सकते हैं बड़े कामः गोविंदाचार्य


8 अप्रैल : नयास संवाददाताः नई दिल्ली

देश के प्रखर चिंतक और सनातन भारतीय संस्कृति के तपस्वी पुरोधा के एन गोविंदाचार्य ने देश की राजधानी दिल्ली के झिलमिल कालोनी स्थित जगन्नाथ मंदिर प्रांगण में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि संकल्प शक्ति सबसे बड़ी होती है और बिना साधन के भी लोकहित के बड़े से बड़ा काम संभव है । श्री राम सांस्कृतिक शोध संस्थान की नई वेबसाइट और एप श्री राम वन यात्रा के लोकार्पण समारोह में भाग लेते हुए गोविन्दाचार्य ने कहा कि डॉ रामअवतार ने अपने 48 वर्षों के तप और अनथक प्रयासों से साबित कर दिया है कि संकल्प बल ही सबसे बड़ा बल है ।

गोविन्दाचार्य ने कहा कि श्री राम वन यात्रा तीर्थों को एक सूत्र में पिरोना गंगा को धरती पर उतारने जैसा श्रमसाध्य कार्य था जिसे डॉ राम अवतार ने एकल प्रयास से साकार रूप दिया है । उन्होंने उम्मीद जतायी कि इस वेबसाइट के माध्यम से रामजी के तीर्थों के प्रति लोगों में जागरुकता बढ़ेगी । उन्होंने लोगों से आह्व्ान किया कि वे एप डाउनलोड करने के साथ इसके प्रचार प्रसार में सहयोग दें ।

प्रस्तुत हैं इस अवसर के कुछ चित्र

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *