Thursday, August 18, 2022

2-76 सीता लेखनी


कई स्थलों पर प्रकृति के रहस्यों को मां सीता से संबंधित माना जाता है। यहां पाषाणों पर मां सीता द्वारा की गयी चित्रकारी के दर्शन व पूजन के लिए गहरे जंगलों में आज भी वनवासी दूर-दूर से आते हैं। चित्रकारी में राम, लक्ष्मण, सीता के चित्र मिलते हैं।

सीता लेखनी से श्रीराम-लक्ष्मण पायनः- सीता लेखनी – बभना – परसिया- उड़गी-दवाना-अमोरनी-पोण्डी- मरहट्टा। एस.एच. 12/एस.एच 3-से 70 कि.मी.

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published.