Friday, August 19, 2022

2-187 रामेश्वर रामतीर्थ बेलगाँव कर्नाटक


रामतीर्थ अथणी तालुका में रामतीर्थ गाँव में रामजी से पूजा करवाने शिव सपरिवार यहाँ पधारेे थे। श्रीराम के आग्रह पर शिवजी ने शिवलिंग का अलंकरण, नाम रामेश्वर, गर्मजल से जलाभिषेक तथा केतकी के फूलों से पूजा स्वीकार की। आज भी यहाँ ये चारों परम्पराएँ हंै।

वा. रा. 3/69/1 से 9 तक मानस 3/32/2

रामेश्वर से रामतीर्थ जमखण्डीः- कखमरी – रामतीर्थ – नन्दगांव – हन्नूर – जमखण्डी। जमखण्डी – अथनी रोड़ से 60 कि.मी.

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published.