Thursday, February 9, 2023

न्यास की योजनायें और आप राम भक्तों से हमारी अपेक्षा


श्री राम सांस्कृतिक शोध संस्थान न्यास की ओर से भगवान श्री राम के 290 तीर्थों के विकास के लिये अनेक योजनायें चलायी जा रही हैं । हम आपसे इनमें सहयोग की अपेक्षा रखते हैं ।

 1.  अपनी संस्कृति व पूर्वजों के प्रति गौरव का भाव रखें।
2.  यदि आपको इस प्रकार के अन्य स्थलों की जानकारी हो तो इस ट्रस्ट को उसका पूर्ण विवरण भेजें।
3.  न्यास का साहित्य तथा/सी.डी. आदि का प्रचार करें व यथा सामर्थ्य वितरण करें।
4.  अपने नगर/गांव में चित्र प्रदर्षनी का आयोजन करें।
5.  प्राप्त स्थलों की यात्रा करें।
6.  मंदिर योजना, स्तम्भ योजना, श्रीराम वाटिका योजना तथा संग्रहालय योजना की पूर्ण जानकारी न्यास से प्राप्त कर उसमें यथा सामर्थ्य सहयोग करें।
7.  सांस्कृतिक यात्राएं करें तथा यात्रियों को यथायोग्य प्रोत्साहित करें।
8.  वनवासियों, गिरीवासियों का जीवन स्तर  सुधारने, वहां षिक्षा के प्रसार आदि में सहयोग करें। अधिक जानकारी के लिए
    1.  जहँ जहँ चरण पडे़ रघुवर के (श्रीराम यात्रा स्थलों का एलबम देखें)ऽ
    2. वनवासी राम और लोक संस्कृति का अध्ययन करें।
    3.  जहँ जहँ चरण पडे़े रघुवर के फिल्म देखें।
9 . Log on to www.shriramvanyatra.com and www.shriramvanyatra.org
 

उपरोक्त तथ्यों की ओर ध्यान देते हुए हम सभी राम भक्तों से निवेदन करना चाहते हैं कि न्यास की ओर से विभिन्न योजनायें चलायी जा रही हैं । इनमें से कुछ प्रमुख इस प्रकार हैं ।

1 मानचित्र योजना सभी 290 तीर्थ स्थलों पर स्टील के बड़े आकार के मानचित्र लगाये गये हैं ताकि यहां आने वाले श्रद्धालु सभी स्थानों की जानकारी ले सकें।

2 श्री सीताराम चरण चिह्न योजना सभी तीर्थों में संगमर्मर निर्मित श्री सीता राम चरण चिह्न की स्थापना की गयी है । स्थापना समारोह में भगवान राम के पावन चरणों से पवित्र सभी 290 तीर्थों की मिट्टी, पावन सरोवर जल और गंगाजल से नींव को अभिसिक्त करते हुए प्रार्थना की गयी है कि हम सभी रामभक्त इनके संरक्षण और विकास के लिये एकजुट हों ।

3 मील का पत्थर योजना सभी तीर्थों को आपस में एक सूत्र में आबद्ध करने के लिये प्रत्येक प्रांत में एक तीर्थ से दूसरे तीर्थ के बीच मील के पत्थर लगाये जा रहे हैं ताकि श्रद्धालुओं को मार्ग में भटकना नहीं पड़े । मील के इन पत्थरों को देखते हुए आसानी से लोग अगले स्थल तक पहुंच सकते हैं। कई राज्यों में यह काम पूरा हो चुका है । अन्य प्रांतों में यह योजना अभी भी चल रही है । इसमें सहयोग के लिये कृपया आगे आयें ।

4 शिलालेख योजना सभी तीर्थों पर बड़े आकार के शिलालेख को स्थापित करने की योजना पर तेज गति से काम शुरु हो चुका है । इस शिलालेख में उस स्थान का महत्व, पावन ग्रंथों में इसके बारे में उल्लेख सहित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां दर्ज की जायेंगी ।

5 श्री राम संग्रहालय योजना चित्रकूट में कामदगिरी परिक्रमा पथ पर श्री राम भरत मिलन मंदिर के निकट एक लघु संग्रहालय की स्थापना की गयी है । इसके अतिरिक्त एक भव्य श्रीराम संग्रहालय स्थापित करने की योजना पर काम शुरु हो गया है ।

6 टेलीविजन धारावाहिक योजना समकाल में प्रचार प्रसार कार्य में टेलीविजन धारावाहिक की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है । इसे ध्यान में रखते हुए विगत डेढ़ दशक में अनेक टेलीविजन धारावाहिकों का निर्माण और प्रसारण किया गया है । सबसे पहले 52 एपीसोड के धारावाहिक जहँ जहँ राम चरण चलि जाहिं का ज़ी जागरण टी वी चैनल पर प्रसारण हुआ । इसके बाद श्रद्धा टीवी चैनल और सौभाग्य मिथिला चैनल पर 72 एपीसोड वाला धारावाहिक सियाराम चरण सुखदायी प्रसारित किया गया । वर्तमान काल में जून 2018 से लगभग एक सौ अंक वाले जहँ जहँ चरण पड़े रघुवर के धारावाहिक का आस्था टीवी चैनल पर प्रत्येक रविवार रात दस बजे प्रसारण चल रहा है । सभी रामभक्तों से आग्रह है कि आप इस कार्यक्रम को स्वयं भी देखें और अन्य लोगों को भी देखने के लिये प्रेरित करें ।

7 न्यास की लघु फिल्म सभी तीर्थों की जानकारी देने वाली दो फिल्मों का निर्माण किया गया है । जहां जहां पग धरे राम राम ने और जहँ जहँ चरण पड़े रघुवर के विडियो डीवीडी के रूप में उपलब्ध हैं । इनके माध्यम से सभी स्थानों की संक्षिप्त जानकारी प्राप्त की जा सकती है । इसके लिये न्यास कार्यालय से संपर्क करें ।

8 न्यास द्वारा प्रकाशित पुस्तक सभी तीर्थों के प्रचार प्रसार के लिये न्यास द्वारा अनेक पुस्तकों का प्रकाशन हुआ है । पूरी जानकारी के लिये साथ दिये लिंक को क्लिक करें ।

https://www.shriramvanyatra.org/category/books-published-by-us/

9 न्यास की ओर से आयोजित तीर्थ यात्रा समय – समय पर न्यास की ओर से इन तीर्थों के दर्शन और सनातन धर्म के प्रचार के लिये यात्रा का आयोजन किया जाता है । इस यात्रा के दौरान तीर्थ दर्शन के साथ वनवाली बंधुओं के बीच गंगाजल और अन्य सामग्रियों का वितरण किया जाता है । आप भी इसमें सहभागी बन सकते हैं । इसके लिये कृपया न्यास से संपर्क करें ।

संपर्क सूत्र

डॉ राम अवतार

09868364356 // 08920301889

कार्यालय का पता

श्री राम सांस्कृतिक शोध संस्थान न्यास

बी 945 एम आइ जी फ्लैट्स

पूर्वी लोनी रोड, दिल्ली 110093

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *